Home इतिहास

इतिहास

Dev Sun Temple

बिहार के भूमिहार ब्राह्मणों के पौरोहित्य का विराट इतिहास

bhumihar history in hindi - मगधनामा (magadhnama)शोधपरक पुस्तक है जो उत्तर प्रदेश कैडर  के प्रशासनिक अधिकारी कुमार निर्मलेन्दु द्वारा लिखा गया है। इस पुस्तक...

राम-जन्मभूमि संघर्ष और भूमिहार ब्राह्मण

रामजन्म भूमि रक्षा में बाबर के सेना के विरुद्ध ब्राह्मणों की सेना का नेतृत्व करते हुये बड़ी संख्या में भूमिहार ब्राह्मण एवम उनके सहयोगी...
brahmeshwar mukhiya india tv

स्वर्गीय ब्रह्मेश्वर मुखिया का आखिरी इंटरव्यू

दुबले-पतले से एक किसान को देखते-देखते कैसे खौफ का पर्याय बना दिया गया.ब्रह्मेश्वर मुखिया के जीवित रहते और उनके जाने के बाद भी नक्सलियों...
jp targeted bhumihar

जब श्रीबाबू को जेपी ने पत्र लिख कर कहा -‘यू हैव टर्न्ड बिहार इन...

लोकनायक जयप्रकाश नारायण और बिहार के प्रथम मुख्यमंत्री श्रीकृष्ण सिंह ने एक-दूसरे को ‘जातिवादी’ कहा था। भले ही इलजाम के तौर पर नहीं, बल्कि...
bhumihar or bhumihar brahaman

भूमिहार या भूमिहार ब्राहमण ?

भूमिहार नहीं 'भूमिहार ब्राहमण' लिखिए, बड़े संघर्ष से मिला है ब्राह्मण उपनाम  बाभन, भूमिहार और भूमिहार ब्राह्मण एक ही सिक्के के तीन पहलू हैं - बाभन,...
Baikunth Shukla

बैकुंठ शुक्ल की शहादत को नमन , गद्दारों से लिया था भगत सिंह की...

भारतीय स्वतंत्रता के इतिहास में एक से बढ़कर क्रांतिकारी हुए हैं जिन्होंने देश की आज़ादी के लिए अपने आप को कुर्बान कर दिया. ऐसे...
Heroes of Sanyasi Revolt

सन्यासी विद्रोह के महानायक थे भूमिहार ब्राह्मण

पहली बार अंतरराष्ट्रीय जनरल हिस्ट्री टुडे में डा आनंदवर्धन द्वारा लिखे गये लेख "The Sanyasi Revolt: A Critical Reappraisal" में किया गया है इस...
Uday Shankar, CEO, Star India

मीडिया करती है बिहार के इस भूमिपुत्र को सलाम, नाम है जिसका उदय शंकर

प्रेरणादायक खबर : मीडिया इंडस्ट्री में कभी किसी पत्रकार ने ऐसी तरक्की नहीं की जैसी उदय शंकर ने की है. वे स्टार इंडिया के...
brahameshwar mukhiya

ब्रहमेश्वर सिंह मुखिया (Brahmeshwar Mukhiya) : आधुनिक परशुराम

कौन जानता था कि तारीख 1 जून की सुबह एक ऐसे ब्राहमण योद्धा की नृशंस हत्या कर दी जाएगी. एक ऐसा योद्धा जिसने अपनी...
Rastrakavi Dinkar

अखिल भारतीय ब्रह्मर्षि महासम्मेलन के लिए लिखित रामधारी सिंह दिनकर की एक विलुप्त कविता

सन 1938 में पटना में अखिल भारतीय ब्रह्मर्षि महासम्मेलन क आयोजन किया गया था जिसमें काशी नरेश विभूति नारायण सिंह, सर गणेश दत्त, बाबू...
Donate to BhuMantra