Home इतिहास

इतिहास

श्रीबाबू को धाराप्रवाह संस्कृत बोलते देख जब आयोजक हो गए हैरान!

बात 1958-59 की है। गया कॉलेज गया के संस्कृत विभाग में एक महत्वपूर्ण समारोह में श्री बाबू मुख्य अतिथि थे। उनसे सभा को संबोधित...
Dev Sun Temple

बिहार के भूमिहार ब्राह्मणों के पौरोहित्य का विराट इतिहास

bhumihar history in hindi - मगधनामा (magadhnama)शोधपरक पुस्तक है जो उत्तर प्रदेश कैडर  के प्रशासनिक अधिकारी कुमार निर्मलेन्दु द्वारा लिखा गया है। इस पुस्तक...
Lieutenant Colonel Vidya Sharma

भूमिहार ब्राह्मण का इतिहास, वर्तमान एवं भविष्य- Bhumihar Brahmin: History, present and future in...

भूमिहार के किसी भी लिखित अलिखित इतिहास से पूर्व मेर इस आलेख को socio-scientific cap पहनकर खुले दिल से पूरी आलोचना और विष वमन...

एक राजा जो गरीबों के लिए फकीर बन गया – राजनारायण

गरीबों के मसीहा राजनारायण की पुण्यतिथि पर विशेष राजनारायणराजेंद्र राय, समाजवादी चिंतक- गरीबों के मसीहा - 20वीं शताब्दी के लोक बंधु, उम्र...
brahameshwar mukhiya

ब्रहमेश्वर सिंह मुखिया (Brahmeshwar Mukhiya) : आधुनिक परशुराम

कौन जानता था कि तारीख 1 जून की सुबह एक ऐसे ब्राहमण योद्धा की नृशंस हत्या कर दी जाएगी. एक ऐसा योद्धा जिसने अपनी...
bhagwan parshuram gopal ji write up

अकारण क्रोधित नहीं होते भगवान परशुराम, अधर्म के नाश के लिए उठता है उनका...

धर्म की जब-जब हानि होगी तब-तब अवतरित होते रहेंगे भगवान् परशुराम भगवान परशुराम की जयंती (अक्षय तृतीया, अप्रैल 2020 पर विशेष) : पृथ्वी पर जब-जब...

क्या हम वास्तव में ब्रह्मर्षि हैं?

ऋषि भारतीय परंपरा में श्रुति ग्रंथों को दर्शन करने (यानि यथावत समझ पाने) वाले जनों को कहा जाता है ।ऋषि शब्द की व्युत्पत्ति 'ऋष'...
Uday Shankar, CEO, Star India

मीडिया करती है बिहार के इस भूमिपुत्र को सलाम, नाम है जिसका उदय शंकर

प्रेरणादायक खबर : मीडिया इंडस्ट्री में कभी किसी पत्रकार ने ऐसी तरक्की नहीं की जैसी उदय शंकर ने की है. वे स्टार इंडिया के...

वीरता की मिसाल कर्नल मुनींद्र नाथ राय आतंकियों के लिए खौफ के पर्याय थे

कर्नल मुनींद्र नाथ राय की जाबांजी की कथा, 27 जनवरी 2015 को शहादत।।   कर्नल मुनींद्र नाथ राय ये नाम जाबांजी की एक ऐसी कहानी बन...
bhumihar or bhumihar brahaman

भूमिहार या भूमिहार ब्राहमण ?

भूमिहार नहीं 'भूमिहार ब्राहमण' लिखिए, बड़े संघर्ष से मिला है ब्राह्मण उपनाम  बाभन, भूमिहार और भूमिहार ब्राह्मण एक ही सिक्के के तीन पहलू हैं - बाभन,...
Donate to BhuMantra