decrease in crime in Bihar

बिहार सरकार और पुलिस जो करने में अबतक नाकाम रही, वह कोरोना काल में स्वयं ही हो गया। एजेंसी से आयी एक रिपोर्ट के मुताबिक़ बिहार में अपराधिक घटनाओं में भारी कमी आयी है। रिपोर्ट के मुताबिक़ बिहार में पिछले साल अप्रैल के पहले पखवारे की तुलना में इस साल उसी समयावधि में अपराधिक घटनाओं में 26 प्रतिशत की गिरावट आई है। अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय जितेंद्र कुमार ने बुधवार को बताया कि लॉकडाउन के दौरान आपराधिक घटनाओं का तुलनात्मक अध्ययन किया गया है।

उन्होंने बताया कि 1 अप्रैल से 15 अप्रैल 2020 के सं™ोय अपराध के आंकड़ों का वर्ष 2019 के अप्रैल माह के आंकड़े से तुलना करने के बाद कुल सं™ोय अपराध की घटनाओं में 26 प्रतिशत की कमी आई है।

उन्होंने बताया, “इस समयावधि में दोनों वषों की तुलना में इस साल हत्या की घटनाओं में जहां 26 प्रतिशत की कमी आई है, वहीं डकैती के मामलों में 80 प्रतिशत की गिरावट देखी गई है। इसी तरह लूट की घटनाओं में पिछले साल की तुलना में इस अप्रैल के पहले पखवारे में 72 प्रतिशत, गृह भेदन में 44 प्रतिशत, चोरी में 68 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है।”

उन्होंने कहा कि महिला उत्पीड़न संबंधित घटनाओं में भी 66 प्रतिशत, दुष्कर्म की घटनाओं में 56 प्रतिशत, सामान्य अपहरण की घटनाओं में 81 प्रतिशत तथा सड़क दुर्घटना की घटना में 66 प्रतिशत की कमी देखी गई।

कुमार ने बताया कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए एहतियाती कदमों को पालन करने के लिए पुलिस सजग है। इस दौरान अब तक कुल 33,745 वाहन जब्त किए गए हैं जबकि इस दौरान कुल 7 करोड़ 80 लाख 78 हजार 906 रुपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गई है।

और पढ़े – लापरवाह लोगों की वजह से बिहार में बढ़ रहा है कोरोनावायरस का संक्रमण