mukhiya ji par hashtag

किसानों के मसीहा और नक्सलियों के काल स्व. ब्र्हमेश्वर मुखिया की हत्या हुए एक अरसा बीत चुका है, लेकिन उनके कातिलों को अबतक पकड़ा नहीं जा सका है. इसे लेकर आज ट्विटर पर बिहार के लोगों ने आवाज़ उठायी और जल्द-से-जल्द इसके कातिलों को पकड़ने की मांग की. गौरतलब है कि यह मामला वर्षों से सीबीआई (CBI) के अधीन है लेकिन अबतक देश की यह सर्वोच्च जांच एजेंसी उनके कातिलों का कोई सुराग नहीं पता कर सकी.

बीच में अख़बारों में एक इश्तिहार आया था जिसमें सीबीआई ने कातिलों का सुराग देने वालों के लिए इनाम की घोषणा की थी. लेकिन उसके बावजूद अबतक सीबीआई के हाथ खाली ही है. ऐसे में सवाल उठना लाजमी ही है कि आखिर सीबीआई इस मामले में कातिलों को पकड़ने में क्यों नाकाम रही हैं. इसी को लेकर आज सोशल मीडिया पर बिहार के लोगों ने ट्वीट किया और #शहीद_मुखियाजी_को_न्याय_दो नाम से हैशटैग चलाया. इस हैशटैग में अबतक 27 हजार ट्वीट और रीट्वीट हो चुके हैं.

बिहार में यह हैशटैग नंबर-2 तक पहुंचा जबकि भारत में नंबर-20 तक पहुंचा. इससे सहज अंदाजा लगाया जा सकता है कि लोगों में इसे लेकर कितना आक्रोश है. गौरतलब है कि बिहार में आने वाले समय में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और यह मुद्दा चुनावों को प्रभावित कर सकता. समाज का बड़ा तबका इसे लेकर बेहद नाराज है और उसका कहना है कि ब्र्हमेश्वर मुखिया के कातिलों को राजनीतिक दवाब में नहीं ढूँढा जा रहा है और जांच की रफ़्तार कछुए से भी मंद गति से चल रही है. अभी 1 जून को स्व.ब्रह्मेश्वर मुखिया की पुण्यतिथि पर उन्हें बड़ी संख्या में लोगों ने याद किया था और सोशल मीडिया पर उसकी तस्वीरें भी पोस्ट की थी.

( यह भी पढ़े – गया में हुए नरसंहार के विरोध में हैशटैग #उड़ता_बिहार_मरता_भूमिहार टॉप ट्रेंड में शामिल )

ट्विटर पर #शहीद_मुखियाजी_को_न्याय_दो नाम से हुए हैशटैग के कुछ टॉप ट्वीट –

और पढ़े – दिनकर जी को आज ट्विटर पर याद किया गया, #BharatRatna4Dinkar 26वें नंबर पर ट्रेंड कर गया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here