Governing body of Bhumihar Brahmin Samaj

-भूमंत्र डेस्क

समाज के नेशनल टीम का निर्माण एवं कैसा हो समाज के नेशनल टीम का स्वरूप:

बिहार चुनाव के मद्देनज़र अपने समाज के ग़ैर राजनीतिक प्रबुद्ध लोगों की एक नेशनल टीम बने जो समाज हित में क्या होना चाहिये उस पर निर्णय ले इसके लिए नेशनल टीम का जल्द से जल्द निर्माण करे भूमिहार-ब्राह्मण समाज. यह नेशनल टीम में समाज के अलग अलग सभी क्षेत्र के प्रबुद्ध लोग रहेंगे सिवाय राजनीतिक नेता के।  इस नेशनल टीम में श्री अभयानंद जी (पूर्व डीजीपी एवं सुपर-30 संस्थापक) एवं कर्नल श्री एके सिंह (रुबन हॉस्पिटल के संस्थापक), विरासत विज्ञानी डा आनंदबर्धन जैसे लोग हो. जो लोग राजनीति में हैं या किसी भी तरह से राजनीतिक एफलिएशन रखते हो वे इस टीम का हिस्सा नही होंगे. यह नेशनल टीम चुनाव के अलावे भी समाज-निर्माण के लिये हमेशा काम करती रहेगी.
समाज के अलग अलग फील्ड के 50-100 प्रबुद्ध लोगों को लेकर एक नेशनल टीम-(अपने समाज का GOVERNING BODY) का निर्माण जो की डिसिशन मेकिंग बॉडी होगी जिसके 25% मेंबर हरेक साल बदलते रहेंगे. 50-100 यह संख्या फ़ाइनल नही है यह तो चर्चा कर तय किया जा सकता है यहाँ यह आइडीया के लिये दिया गया है। कमेंट सेक्शन में आप समाज के प्रबुद्ध व्यक्तीयों का नाम बता सकते हैं.
इस नेशनल टीम(GOVERNING BODY) में कोई पद नहीं होगा, सभी मेंबर समान होंगे जिसका फायदा यह रहेगा की संस्था किसी एक व्यक्ति के चहरे से नहीं जाना जाएगा और लोग अधिक जुड़ाव और इमपोवेर्ड महसूस करेंगे. कोई छोटा या बड़ा नहीं होगा सब समान होंगे. 
बिहार चुनाव में समाज को क्या करना चाहिये जिसका रोड मैप भूमंत्र ने दिया है जिसमे हरेक विधानसभा क्षेत्र में 3 प्रबुद्ध व्यक्तियों को निर्णय करने का जिम्मेवारी की बात कही गयी है उसमें कोई कन्फ्यूजन की स्थिति में नेशनल टीम उनलोगों से बात करके समस्या का हल निकालेगी
भूमंत्र के रोड मैप(दहेज, रोज़गार, कृषि, आर्थिक सशक्तिकरणआदि )जिसे भूमंत्र के विजन डॉक्युमेंट के नाम से भी जाना जाता है के इमप्लेमेंटेशन की ज़िम्मेवारी भी नेशनल टीम की ही होगी. नेशनल टीम प्रोजेक्ट बेसिस पर अनुभव के आधार पर टास्क-प्रोजेक्ट के आधार पर कोर्डिंनेटर अप्पोईंट कर सकती है. कोऑर्डिनेटर expertise वाइज किसी प्रोजेक्ट को हेड करेंगे जिसमे वो अपनी टीम चुन सकते हैं और अपना प्रोजेक्ट प्रपोजल नेशनल टीम के सामने रखेंगे जिसमे वो आपसे प्रोजेक्ट समबंधित सवाल पूछ सकते हैं और कोर्डिंनेटर को अपने जवाब से नेशनल टीम को संतुष्ट करना होगा.
लाल किताब का निर्माण (CONSTITUTION) इस पुस्तक में नेशनल टीम (GOVERNING BODY) के सदस्यों के कर्तव्य एवं भूमिका की व्याख्या होगी और यही संविधान होगा नेशनल टीम का जो भविष्य में होने वाले किसी भी संशय को दूर करेगा. इसमें सभी कुछ शामिल होगा …

2 COMMENTS

  1. मैंने कुछ लोगों द्वारा सुझाया गया नाम देखा। डॉक्टर, इंजीनियर, प्रोफेसर और कुछ फौजी अफसर। सभी अपने क्षेत्र में दक्ष होंगे। प्रश्न यह उठता है कि उनमें से कितनों ने स्वजन उत्थान के लिए कभी भी कोई प्रयत्न किया।
    अपने आप में क्वालिफाइड होना एक बात है और सामाजिक रुप से उपयोगी होना दूसरी बात। हमें बहिर्मुखी योग्यता सम्पन्न लोगों की जरूरत है, किताबी कीड़ों की नहीं। भूमन्त्र सदस्य इस बात का ध्यान रखें।

  2. प्रिय अभयानंद जी,
    आपके विचार सामयिक है और ग्राह्य भी। यह समाज शुरु से ही विखंडित रहा है और आज अस्तित्वहीन होने के कगार पर है।अपने लम्बे अनुभव में बहुत चोटें खाई है। आपके सफल नेतृत्व की कामना करता हूँ। अपना बायोग्राफी दे रहा हूँ। मौका मिलने पर बात होगी। सानुरोध।
    https://drive.google.com/file/d/15fEtAaE8J9uWdDiqGiCC6SfIhv1iZf59/view?usp=drivesdk

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here