बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को कहा कि कोरोनावायरस से डरने की नहीं, जागरूक रहने की जरूरत है। उन्होंने दावा किया कि सरकार इसे लेकर पूरी तरह सचेत है और लोगों के साथ है।

नीतीश ने कहा कि कोरोना पीड़ितों के इलाज का खर्च राज्य सरकार वहन करेगी, साथ ही अगर किसी पीड़ित की मृत्यु हो जाती है तो बिहार सरकार उसके परिजनों को चार लाख रुपये का मुआवजा देगी।

बिहार विधानसभा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोरोना को लेकर तैयारियों और किए गए एहतियातन उपाय को लेकर सभी सदस्यों को जानकारी दी और कहा कि इसको लेकर बचाव की दिशा में सरकार का प्रयास जारी है। उन्होंने आम लोगों से भी सतर्कता बरतने की अपील की।

उन्होंने कहा, “सरकार कोरोना को लेकर पूरी तरह सतर्क है और इसे लेकर उपाय किए जा रहे हैं। इसे लेकर अनावश्यक रूप से डर का वातावरण नहीं बनाना चाहिए।”

मुख्यमंत्री ने विधानसभा में लोगों के मास्क लगाने पर भी हैरानी जताई और कहा कि इससे आम लोगों के बीच भय पैदा हो रहा है। उन्होंने कहा कि स्वस्थ व्यक्ति को मास्क लगाने की कोई जरूरत नहीं है। पीड़ित व्यक्ति को मास्क लगाने की जरूरत है।

मुख्यमंत्री ने कहा, “कोरोना से बीमार मरीज के इलाज का खर्च राज्य सरकार वहन करेगी, साथ ही अगर किसी मरीज की मृत्यु हो जाती है तो बिहार सरकार उसके परिजनों को चार लाख रुपये का मुआवजा देगी।”

मुख्यमंत्री ने कहा, “कोरोना से डरने की नहीं, सबको मिलकर लड़ने की जरूरत है।”

उन्होंने कहा, “सरकार सभी एहतियाती उपाय कर रही है।”

उन्होंने लोगों से किसी भी प्रकार की सूचना मिलने पर इसकी सूचना अधिकारियों को देने की अपील की। उन्होंने लोगों को भीड़ से बचने की सलाह दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here