hill station india
सिवनी (साई)। उत्तर और पश्चिम भारत में पारा लगातार चढ़ रहा है और अगले हफ्ते गुड फ्राइडे की वजह से लंबा वीकेंड भी है, ऐसे में आप इस वीकेंड में गर्मी से बचने और किसी हिल स्टेशन पर घूमने के लिए कोई प्लान जरूर बना रहे होंगे, आपकी प्लानिंग में हम आपकी मदद कर देते हैं, हम आपको दिल्ली के नजदीक 5 हिल स्टेशन की जानकारी दे रहे हैं जहां पर आसानी से पहुंचा जा सकता है और 3 दिन की छुट्टी काटकर वापस आया जा सकता है।
दिल्ली के नजदीक किसी भी हिल स्टेशन का जब भी जिक्र होता है तो सबसे पहले शिमला का नाम सामने आया है, पहाड़ों की रानी के नाम से मशहूर हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में घूमने का यह सबसे सही समय है, शिमला में इस समय आपको न सिर्फ तापमान कम मिलेगा बल्कि आबो हवा भी बिल्कुल साफ मिलेगी।
दिल्ली से शिमला रोड़ के रास्ते आसानी से पहुंचा जा सकता है 7-8 घंटे का सफर है, नजदीकी एयरपोर्ट चंडीगढ़ है जहां से शिमला 3 घंटे में रोड़ के जरिए पहुंचा जा सकता है। शिमला में आसानी से होटल और ट्रांसपोर्ट की सुविधा मिल जाएगी। भारत में जब ब्रिटिश शासन था तो उस समय अंग्रेज भी गर्मियों में दिल्ली को छोड़ शिमला चले जाते थे, शिमला को उन्होंने भारत की ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित किया हुआ था।
गर्मियों में दिल्ली के नजदीक शिमला के अलावा किसी दूसरे हिल स्टेशन का सबसे ज्यादा जिक्र आता है तो वह हिल स्टेशन धर्मशाला है, धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की शीतकालीन राजधानी तो है ही साथ में निर्वासित तिब्बत सरकार की राजधानी भी है और तिब्बतियों के सबसे बड़े धर्मगुरू दलाई लामा भी धर्मशाला में ही रहते हैं। यहां भी तापमान कम होने के साथ आबो हवा भी साफ रहती है। अगर आप एडवेंचर के शौकीन है तो धर्मशाला में आपके लिए पैरा ग्लाइडिंग की सुविधा भी मिलेगी। दिल्ली से धर्मशाला रोड़ के जरिए 12 घंटे में पहुचा जा सकता है, दिल्ली से धर्मशाला को रोजाना हवाई उड़ान भी चलती है और नजदीकी एयरपोर्ट गगल है जो धर्मशाला से सिर्फ 13 किलोमीटर दूर है।
दिल्ली के नजदीक तीसरा सबसे अच्छा हिल स्टेशन डलहौजी को माना जाता है, ब्रिटिश वायराय लॉर्ड डलहौजी के नाम पर बसे इस शहर को अंग्रेजों ने ही बसाया था। डल्हौजी में स्थित खजियार को मिनी स्विटजरलैंड के नाम से जाना जाता है। हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले में बसा यह हिल स्टेशन अपनी खूबसूरती और साफ सुथरी हवा के लिए देशभर में जाना जाता है, डलहौजी में तापमान शिमला और धर्मशाला के मुकाबले और भी ठंडा रहता है। दिल्ली से डलहौजी रोड़ के जरिए करीब 11 घंटे में पहुंचा जा सकता है, नजदीकी रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डा पठानकोट है जहां से पठानकोट की दूरी 75 किलोमीटर है।
चौथे नंबर पर हिमाचल प्रदेश का ही एक और शहर मनाली है जहां की खूबसूरती पूरी दुनिया में जानी जाती है, हिमाचल प्रेदश के किसी शहर में अगर सबसे ज्यादा विदेशी पर्यटक आते है तो वह मनाली ही है। मनाली में घूमने वालों को पैरा ग्लाइडिंग, वाटर राफ्टिंग और ट्रैकिंग की पूरी सुविधा मिलती है। दिल्ली से रोड़ के रास्ते मनाली पहुंचने में हालांकी 13-14 घंटे लग जाते हैं लेकिन यहां पर नजदीकी एयरपोर्ट भुंतर है जो कुल्लू-मनाली वैली में ही आता है। मनाली में तापमान शिमला, धर्मशाला और डलहौजी के मुकाबले और भी कम रहता है और मनाली के नजदीक रोहतांग दर्रा भी है जहां पर साल के 12 महीने बर्फ रहती है।
शिमला, धर्मशाला, डलहौजी और मनाली के अलावा दिल्ली के नजदीक एक और हिल स्टेशन है जो इन चारों के मुकाबले ज्यादा नजदीक है। हम बात कर रहे हैं उत्तराखंड में बसे नैनीताल की जो दिल्ली से रोड़ के रास्ते सिर्फ 6 घंटे की दूरी पर है, नैनीताल में बोटिंग, घोड़े की सवारी और ट्रैकिंग की सुविधा उपलब्ध है और यहां घूमने का सबसे अच्छा समय मार्च से जून के बीच का है

Community Journalism With Courage