किसानों को डायबिटीज रोग से बचाने की मुहिम

डॉ. अभिषेक रंजन डायबिटीज यानी मधुमेह दिन प्रतिदिन एक भयानक रोग बनकर पूरे समाज को अपने मुठ्ठी में कर रहा है । इसकी बानगी है कि ग्रामीण और खासकर मेहनतकश गरीब किसानों में भी बहुतयात लोगो को हाई सुगर है। पिछले 3 सालों से जारी हमारी स्वास्थ्य क्रांति से जुड़े आंकड़े पर गौर करे तो ग्रामीण क्षेत्रो में हर 10 लोगो में से 3 को डायबिटीज है, 3 को बीपी है यानी तकरीबन ऐसे 60% ग्रामीणों को सुगर या हाई बीपी है।

इससे न सिर्फ ग्रामीणों को जान का खतरा हो रहा है, बल्कि किसानों में अब अस्वस्थता के कारण अनेको लोग श्रम करने में अक्षम हो रहे है। महंगी दवाईओ के साथ सही समय पर न इलाज़ से पीड़ित परिवार दिन प्रतिदिन सिसक-सिसक कर दम तोड़ रहे है।

मुख्य कारण ग्रामीणों में इतने हाई बीपी और सुगर का सिर्फ और सिर्फ टेंशन और तनाव है। आप जब भी किसान, ग्रामीण के किसी परिवार या किसान से बात करो, काफी कम लोग तनाव मुक्त हैं, ये खेती पर निर्भरता, दिन प्रतिदिन हो रहे नुकसान, बढ़ती हुई जरूरतों के साथ सम्मान भी न मिलने से ग्रामीणों में बेहद तनाव हो रहा है।

किसान अपने बच्चो की पढ़ाई, बच्चो की जरूरतें, स्वास्थ्य के साथ जीवन यापन ये सब दूभर हो रहा है।

सरकारों द्वारा msp बढाने के साथ अन्य कदम भी उठाए गयी है। परन्तु अब हम लोगो को अपने किसानों को तनाव से मुक्त रहने के लिए प्रेरित और उन्हें सम्भालना होगा अन्यथा जल्द ही 80% से ज्यादा ग्रामीण हाई बीपी सुगर से पीड़ित हो चुके होंगे जिससे न सिर्फ उन्हें की पूरे समाज पूरे देश की कमर टूट जाएगी।

किसान भाइयों और उनके परिवारों की मैं पूरी कोशिश करता हूँ, यथा सम्भव प्रयास रहता है कि उन्हें स्वास्थ्य क्रांति के सहारे पूरी मदद कर सकू।

एक पंचायत में हम कम से कम 300 लोगो का बीपी सुगर जांच करते है वो भी ऐसे लोगो का जिनको कोई न कोई लक्षण हैं।

सिर्फ अपने बलबूते ही कर रहे इस स्वास्थ्य क्रांति से हमने 50000 से ज्यादा परिवारों को इन रोगों से मुक्त करने का प्रयास किया है।

एक डॉक्टर के नाते मैं पूरे चिकित्सक समूह से आग्रह करूँगा की, वो सभी अपने अपने क्षेत्रो में एक दिन किसानों को ग्रामीणों को दे।

आप सभी लोगो से अनुरोध है कि सारे चिकित्सको के मान सम्मान दे, हर चिकित्सक मरीज़ का सिर्फ हित चाहता है।

इस ग्रामीण परिवेश की भयानक स्थिति से हमारे किसान भाइयों को निकालने के सिर्फ मैं अकेले नही कर पाऊंगा , 100% प्रयासरत हूँ, 100% न्योछावर भी रहता हूं सेवा के प्रति परन्तु आप सभी अपने अपने स्तर से अपने अपने ग्रामीण क्षेत्रो में सहयोग करे जागरूकता फैलाये।

आप सभी अपने क्षेत्रो के किसानों को तनाव से मुक्त कर, उन्हें हाई बीपी सुगर के प्रति जागरूक करे।

एक साथ मिलकर ही हम इस भीषण परिस्थति से लड़कर जीत पाएंगे।

जय किसान जय हिंद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *