mashroom trainer anup singh bihar

संवाद से समाज बदल सकते हैं. भूमंत्र की यह संकल्पना अब फलीभूत होती नज़र आ रही है. भले लॉकडाउन की वजह से लोग अब ऑनलाइन ट्रेनिंग और संवाद कर रहे हैं. भूमंत्र यह काम पिछले तीन सालों से यानी अपने जन्म से ही कर रहा है. बहरहाल हम आज आपको इसी की सफलता की एक कहानी सुनाने जा रहे हैं जो प्रेरणादायक है. इस कहानी की शुरुआत पिछले साल नवंबर में शुरू हुई जब भूमंत्र से अनूप सिंह जुड़े. उन्होंने अपनी पहली पोस्ट डालते हुए लिखा –

मशरुम उत्पादन हेतु निशुल्क प्रशिक्षण के लिए संपर्क कर सकते है,,,,
7979044059 अनुप सिँह,नालंदा ।।।आपका अपना भाई
बेरोजगारी से अगर आप परेशान है तो मशरुम उत्पादन कर आप अपनी परेशानी खत्म कर सकते है जिसमे हम आपकी मदद करेंगे
उत्पादन से बिक्री तक हम आपके साथ है,,, ,,,,मशरुम उगाये,गरीबी भगाये ।।।।

पहला पोस्ट उन्होंने 14 नवंबर को डाला था. उसकी प्रतिक्रिया अच्छी आयी. उससे उत्साहित होकर अनूप सिंह ने 15 नवंबर को पोस्ट करते हुए लिखा –

15 नवंबर : पहली पोस्ट –

मशरुम उत्पादन हेतु निःशुल्क प्रशिक्षण के लिए मैने कल एक पोस्ट डाला था,
जिसका काफी अच्छा प्रतिक्रिया मिल रहा है लोगो से ।।।। अतः आप सभी को एक बात बताना है, मशरुम की खेती या ब्यापार के लिए “खेत”
की नही,घर की जरूरत होती है,अगर आपके पास 10×15 का एक घर है तो उसमे मशरुम लगा कर 10 से 15 हज़ार तक आप कमा सकते हैं,,,
0 investment में मशरुम उत्पादन हेतु निशुल्क प्रशिक्षण के लिए संपर्क कर सकते है,,,,
7979044059 अनुप सिँह,नालंदा ।।।आपका अपना भाई
बेरोजगारी से अगर आप परेशान है तो मशरुम उत्पादन कर आप अपनी परेशानी खत्म कर सकते है जिसमे हम आपकी मदद करेंगे
उत्पादन से बिक्री तक हम आपके साथ है,,, ,,,,मशरुम उगाये,गरीबी भगाये ।।।।

15 नवंबर : दूसरी पोस्ट –

मशरुम उत्पादन संबंधित किये गए पोस्ट पर बहुत अच्छा प्रतिक्रिया आ रहा हैं
उससे संबंधित बहुत सवाल भी आ रहे है,,
जिसके लिए मैं कुछ शुरुआती जानकारी आप लोगो के बीच दे रहा हु,,
*और आशा करता हु कि आप पोस्ट को पूरा पढ़गे जिससे आपकी अधूरी जानकारी पूरी हो पाएगी*** ** मशरुम की खेती एवं उत्पादन हेतु प्रमुख जानकारी—
1-मशरूम उत्पादन हेतु गेहू का भूसा और 1 नाद या ड्राम चाहिए,
2-1kg बीज में 10kg गेहू का भूसा
3-10×15 का एक कमरा जो नया या पुराना,कच्चा या पक्का कैसा भी हो चलेगा,जिसमे 20kg बीज लगेगा
4-एक कमरा में total लागत खर्च 7000 रुपया
5-मुनाफा 15 से 20हज़ार तक
6-मशरुम उत्पादन 20 दिन के बाद से शुरू अगले 90 दिनों तक ये एक मात्र जानकारी है ।।।?
निःशुल्क प्रशिक्षण हेतु मेरे (नालंदा मशरुम उत्पादन एवं प्रशिक्षण केंद्र) पर आ सकते है।।।
Address=
निकट- नालंदा खंडर सूरजपुर,नालंदा ,बिहार{803111}
मोबाईल-7979044059’अनुप सिंह(मशरुम प्रशिक्षक)
******मशरुम उगाये,गरीबी भगाये*****

27 नवम्बर को उन्होंने चौथा पोस्ट डाला, इसमें निराशा का भाव था. उन्होंने लिखा –

हमारे द्वारा बेरोजगारी और परेशानी को खत्म करने की एक पहल किया गया था।।
(मशरुम उत्पादन के द्वारा,,,)
ताकि लोगो के पास अपना रोजगार हो,,
बाहर जाकर काम नही करना पड़े,,,
,
जब मैंने मशरुम उत्पादन संबंधित निःशुल्क प्रशिक्षण का पोस्ट डाला था,लोगो द्वारा काफी दूर दूर से call आना शुरू हुआ,हमने सभी call का निष्ठा पूर्बक जवाब भी दिया,,,,बहुत लोग बोले हम आएंगे ,लोग आए भी,,,,उनको मैने निःशुल्क प्रशिक्षण भी दिया बीज भी मुहैया करवाया,,,मार्केटिंग में कोई समस्या नही होगी अस्वाशन भी दिया,,,,,
लेकिन जितनी हमारे और (भू मन्त्र) द्वारा मेहनत किया गया,, उस हिसाब से result बहुत अच्छा नही आया,,,
,
,
अभि market का ये आलम है कि कोई 100kg भी मशरुम रोज उत्पादन करे तो बिक्री में कोई परेशानी नही होगी ।।।।। लेकिन कोई नही करेंगे,,,,।।।।।
सब कहते फिरेंगे बेरोजगारी आ गयी है देश मे,,,कोई मदद नही करता मेरा ।।।।
हम बेरोजगार हैं ।।।
,
किसी को बुरा लगे तो क्षमा चाहते है,,,,
Anup Singh ,नालन्दा,,

फिर 4 दिसंबर को उनका एक पोस्ट आया. इस पोस्ट के साथ मशरूम की तस्वीरें थे. उनकी मेहनत रंग लायी और उनसे प्रशिक्षित कुछ लोगों ने मशरूम उत्पादन की शुरुआत कर दी और फिर जो सिलसिला चल पड़ा वह अब भी बदस्तूर जारी है. इस तरह अनूप सिंह भूमंत्र के ‘मशरूम ब्वाय’ बन गए जिनसे प्रशिक्षण प्राप्त कर ढेरों युवाओं ने मशरूम का उत्पादन शुरू करके स्वालंबन की तरफ पहला कदम बढ़ाया. आइये आज भूमंत्र पर अनूप सिंह की मशरूम उत्पादक प्रशिक्षक की कहानी तस्वीरों के माध्यम से देखते हैं. इस सफ़र में आपको आरंभ, सफलता, असफलता, आशा, निराशा सबकुछ दिखाई पड़ेगी. लेकिन अंत में इन सबपर समाज के प्रति समर्पण और आत्मबल की जीत होती आपको दिखेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here