आरक्षण से नहीं ‘कृषि क्रांति’ से बदलेगी भूमिहार समाज की दशा

2
166

वर्तमान समय में कृषि को व्यवसाय के समान मान कर इसमें लगना होगा | भूमि-पूंजी-साहस और धैर्य किसी भी व्यवसाय में प्रगति का मूल मंत्र हैं ! भूमिहारों के पास ये सारी खूबियॉ वर्तमान हैं– लेकिन इनके संतुलित समायोजन के नहीं कर पाने या इसके प्रति सोच के अभाव के कारण पुरा का पुरा ब्रह्मर्षि समाज बेकारी, बेरोजगारी के चपेट में आकर मानसिक असंतुलन की स्थिति में है! भूमिहार नवयुवक वर्ग मानसिक विछोभ की स्थिति में थोड़े समय में ही बहुत कुछ पा कर ऐसपूर्ण जिन्दगी जीने की चाह में कुटीलतापूर्ण राजनीति तथा अपराध की ओर उन्मुख होने के मानसिक प्रेरणा से ग्रस्त है! पैत्रिक भूमि कर्म से तोे लगभग कट ही चुका है!

भूमि कर्म से जुड़ी पुरानी पीढ़ी अपने पुराने संस्कारों से जुड़ी अल्प आय वाली या घाटे की कृषि कर्म से बंधी घर की वर्तमान पीढ़ी के अनुपयोगी व्यवहार से चिंतित किंकर्तव्यविमूढ की, ठहराव ही नहीं, अधोगति की स्थिति में है! ऊपर से वर्तमान में भूमिहारों के प्रति वैमनस्य भरी सामाजिक तथा राजनैतिक स्थिति आग में घी डालने के कार्य कर रही है | आधुनिकता के नाम पर गलत शिक्षा और सोच नयी पीढ़ी की बेड़ी बन चुकी है |

कामेश्वर पांडेय
कामेश्वर पांडेय
ऐसी भयानक स्थिति में भूमिहार के राजनितिग्य भी हमें सही राह दिखाने के बजाय स्वयं के स्वारथ की पूर्ति में आकंठ डूबे हुए प्रतीत हो रहे हैं तथा नई पीढ़ी को अपने स्वार्थ सिद्धि में ‘युज’ कर भटका भी रहे हैं !

 

ऐसी भयानक स्थिति में भी हमने अभी बहुत कुछ बचा कर रखा है, बहुत कम खोया है! लेकिन अब बहुत कुछ खो देने का खतरा सामने खड़ा नजर आरहा है! अतः इससे उबर कर बच निकलने का मार्ग हमें स्वयं ही खोजना होगा उसे जीवन कर्म में उतारना होगा!
 क्रमश: ….

2 COMMENTS

  1. krishi me aab purani baat nahi rahi ab 1 kattha dhan upjane me rs about 600 ka kharcha aata hai aur yahi haal dusre crops ka bhi hai aur to aur mausam bhi anukul nahi hai,pero ki katai aur sahrikaran hone se waqt per barish bhi nahi hoti hai uper se pahle baell se kheti ho jati thi per aab tractor chahiye aur bhi bahut kheti ki saman machinary ho gaya hai aab pahle jaise desi hal se aur gober se kheti karna sambhav nahi hai kyo ki pani patane k liye bhi pumping set chahiye itna paisa lagane k baad government hamari koi help nahi karti hai uper hamare anaj ki kimat bhi wo khud tay karti hai is hishaab se ki aam aadmi tak ye anaj aram se pahuch jaaye aur sarkar khud hamari anaj leti nahi nahi hai sahi rate per aur bpl wale ko rs2 ki rice aur rs3 ki wheat per kg de rahi hai aur kewal punjab aur hariyana itna anaj upjata hai ki shal bhar tak pure desh ko khila sake aur record k mutabik sabse jada yahi k kishan aatamhatya kar rahe hai,to sochne k jarurat hai ki kishaan kheti se muskil se apna pet bhar pate hai,wah apne bacche ko kaise padha piye aur apni dusari jarurat kaise pura kar sakenge,aur global warming k iss daur me wo dhup me kheto me kaise kaam kar sakenge aur apna mehnat bhi kheti k kharche me joor dene per phashal se prapt aamdani utni nahi hoti hoti hai ki uss me kisaan ko profit najar aaye aur jo kheti kar rahe hai wo majboori me kar rahe hai nahi to logo se aab kheti shambhav nahi hai aur wo isse chhor kar dusra kam chun rahe hai?

  2. Dear Bhu-mantra

    We are an early stage startup in the Agriculture space. We are starting of with building an agro-marketplace platform including : seeds, fertilisers, pesticides, fruits, vegetables etc. We control if not own the supply chain necessary and also provide agricultural machines like tractors and harvest-ors in our centres(kendras). We are building up our data-science team and capacity along with hiring agricultural expertise to help predict and train the farmers in optimising their farm output.

    Our founding team is stellar and includes an IIT Delhi CS alums, one Machine Learning Doctorate and another interdisciplinary Doctorate in Mechanics and Rural Development. Two hardworking engineers from farming background. We also have an East African lady from Kenya where we are expanding our business soon.

    Our broader vision is to build an end-to-end ecosystem of agriculture i.e complete farming ecosystem under one roof which takes all the latest developments in drones, deep-learning and blockchains to every nook and corner of the countryside.

    Thanks
    https://kisaanheet.com/
    (BPVS AGROTECH PRIVATE LIMITED)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here