Skip to main content

Mr. North India Bodybuilding competition के विजेता बने 'आतुर त्यागी'

aatur tyagi

अच्छी खबर - दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में चल रहे मि.नॉर्थ इंडिया बॉडी बिल्डिंग कम्पटीशन के नए चैम्पियन 'आतुर त्यागी' बन गए है. उन्होंने त्यागी इंटर कॉलेज मुज़फ्फरनगर से ग्रेजुएशन की हैं और दिल्ली में एक जिम चलाते हैं. वैसे उनकी इस विजय पर तारीफों का सिलसिला शुरू हो गया है. सोशल मीडिया पर आयी कुछ प्रतिक्रियाएं  -

मिट्टी दा बाबूसाहेब -· #त्यागीसाब_Aatur_Tyagi did it again ! रे अपने #त्यागी_भूमिहार छोरो की आन, बान, शान नया सुल्तान भाई #आतूर त्यागी दोबारा लगातार दूसरी बार लठ गाड़ आया भाया ॥॥रे दुनिया वालो कोई भी जमाना आ जाये दिल्ली , हरयाणा ते यूपी मैं तो त्यागियन की ही चाले करे थी , चले हैं और आगे भी न्यू ही चालेगी ॥॥ ॥॥ #North_India_Bodybuilding_comtition मैं अपना भाई फिर #Mr_North_India बन गया प्रतम स्थान प्राप्त कर .. #Winner in Mr. #North_India_bodybuilding_Compitition Held in New #Delhi At Talkatora Stadium

श्रेयास सिंह- #भुमिहार #त्यागी समाज का नाम रोशन किया आतुर त्यागी ने। समाज इनपे गर्व करता है। दिल्ली के #तालकटोरा स्टेडियम चल रहे Mr. North India #Bodybuilding #competition को #जीतकर आतुर त्यागी ने भुमिहार त्यागी समाज का मान बढ़ाया है । #आतुर_त्यागी को बुहत बुहत बधाई ।
Mayank Tyagi Abvp - हमारे आतुर त्यागी ने विनर नॉर्थ इंडिया बॉडीबिल्डिंग कंपटीशन जीत कर हमारी त्यागी बिरादरी और गांव बसई दारापुर (दिल्ली)ओर त्यागी समाज का नाम रोशन कर दिया.. हमारे भाई को बहुत बहुत बधाई हो.......

Anurag Tyagi-· प्रिय आतुर त्यागी भाई को नार्थ इंडिया बॉडीबिल्डिंग चैंपियनशिप जीतने पर हार्दिक बधाई भवदीय अनुराग त्यागी ऋषभ त्यागी - अच्छा लगता है ये देख कर की त्यागी हर एक छेत्र में आगे बढ़ रहा है । दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम चल रहे Mr. North India Bodybuilding competition को जीतकर आतुर त्यागी ने त्यागी समाज का मान बढ़ाया है । #आतुर_त्यागी को बुहत बुहत बधाई । ऋषभ त्यागी सरसोहाड़ी

Dheeraj Tyagi- · दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम चल रहे Mr. North India Bodybuilding competition को जीतकर आतुर त्यागी ने त्यागी समाज का मान बढ़ाया है । #आतुर_त्यागी को बुहत बुहत बधाई ।
Aatur Tyagi Mr. North India Bodybuilding competition champion
Add caption

Aatur Tyagi Mr. North India Bodybuilding competition champion

Aatur Tyagi Mr. North India Bodybuilding competition champion

Aatur Tyagi Mr. North India Bodybuilding competition champion

Aatur Tyagi Mr. North India Bodybuilding competition champion

Aatur Tyagi Mr. North India Bodybuilding competition champion

Community Journalism With Courage

ज़मीन से ज़मीन की बात

Comments

Popular posts from this blog

अंतर्जातीय विवाह की त्रासदी सुहैब इलियासी-अंजू मर्डर केस, सच्चाई जानेंगे तो चौंक जायेंगे

पत्नी अंजू की हत्या के मामले में सुहैब इलियासी दोषी,मिली उम्रकैद की सजा  खुलेपन के नाम पर अंतर्जातीय विवाह आम बात है. भूमिहार समाज भी इससे अछूता नहीं. लड़के और लड़कियां आधुनिकीकरण के नाम पर धर्म और जाति की दीवार को गिराकर अंतर्जातीय विवाह कर रहे हैं. लेकिन नासमझी और हड़बड़ी में की गयी ऐसी शादियों का हश्र कई बार बहुत भयानक होता है. उसी की बानगी पेश करता है अंजू मर्डर केस जिसमें 17साल के बाद कोर्ट का फैसला आया है और अंजू के पति सुहैब इलियासी को उम्र कैद की सजा का हुक्म कोर्ट ने दिया है. गौरतलब है कि अंजू इलियासी कभी अंजू सिंह हुआ करती थी और एक प्रतिष्ठित भूमिहार ब्राहमण परिवार से ताल्लुक रखती थी.
सुहैब इलियासी और अंजू की कहानी - अंजू की मां रुकमा सिंह के मुताबिक़ सुहैब और अंजू की पहली मुलाकात 1989 में जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में हुई थी. धीरे-धीरे दोनों अच्छे दोस्त बन गए और बात शादी तक जा पहुंची. अंजू के पिता डॉ. केपी सिंह को जब इस रिश्ते का पता चला तो उन्होंने इसका विरोध किया. लेकिन इसके बावजूद अंजू और सुहैब ने 1993 में लंदन जाकर स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत शादी कर ली. इसके बाद अं…

पिताजी के निधन पर गमगीन कन्हैया के चेहरे का नूर !

सहसा यकीन नहीं होता, लेकिन तस्वीर है कि यकीन करने पर मजबूर करती है. आपको जैसा कि पता ही है कि छात्र राजनीति से राष्ट्रीय राजनीतिक परिदृश्य में आए कन्हैया के पिता का निधन हो गया था. इस दौरान उनकी तस्वीर भी न्यूज़ मीडिया में आयी थी जिसमें कि वे फूट-फूट कर रो रहे थे. समर्थक और विरोधी सबने दुःख की घड़ी में दुआ की और एक अच्छे इंसान की भी यही निशानी है कि वो ऐसे वक्त पर ऐसी ही संवेदना दिखाए.

बेगूसराय की इस भूमिपुत्री ने 18 साल की उम्र में कर दिया कमाल, पढेंगे तो इस बिटिया पर आपको भी होगा नाज!

प्रेरणादायक खबर : बेटियों पर नाज कीजिए, उन्हें यह खबर पढाईए
बेगूसराय. प्रतिभा किसी चीज की मोहताज नहीं होती. बेगूसराय के बिहटा की भूमिपुत्री प्रियंका ने कुछ ऐसा ही कर दिखाया है. 18 साल की उम्र में प्रियंका इसरो की वैज्ञानिक बन गयी हैं. आप सोंच रहे होंगे कि वे किसी धनाढ्य और स्थापित परिवार से संबद्ध रखती हैं लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है. उनके पिता राजीव कुमार सिंह रेलवे में गार्ड की नौकरी करते हैं और मां प्रतिभा कुमारी शिक्षिका हैं. वे बिहटा के एक साधारण भूमिहार ब्राहमण परिवार से ताल्लुक रखती हैं. इस मायने में उनकी सफलता उल्लेखनीय है.  पढाई-लिखाई :  1-दसवी और 12वीं : वर्ष 2006 में 'डीएवी एचएफसी' से दसवीं और वर्ष 2008 में 12वीं  2-बीटेक : नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी अगरतला  3-एमटेक : एमटेक की पढ़ाई इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी गुवाहाटी से पूरा कर रही हैं  सफलताएं :  1- वर्ष 2009 में एआईईई की परीक्षा में 22419वां रैंक  2- वर्ष 2016 में गेट की परीक्षा में 1604वां रैंक  3- शोध पत्र 'वायरलेस इसीजी इन इंटरनेशनल' जर्नल ऑफ रिसर्च एंड साइंस टेक्नोलॉजी एंड इंजीनियरिंग म…