Skip to main content

Posts

Showing posts from February, 2017

मनोज सिन्हा की मोहम्मदाबाद की जनसभा में अपार भीड़

मनोज सिन्हा ने अलका राय के समर्थन में मोहम्मदाबाद विधानसभा में तीन जनसभाएं दो दिन पहले की थी.इन सभाओं में बड़ी संख्या में लोगों की उपस्थिति रही. देखें तस्वीर -

मनोज सिन्हा को भाजपा ने बनाया स्टार प्रचारक,वरुण गांधी हटाये गए

उ.प्र.चुनाव के मद्देनज़र मनोज सिन्हा को भाजपा ने महत्व देते हुए छठे और सातवें दौर के चुनाव के लिए स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल किया है.उन्हें वरुण गांधी की जगह दी गई है.वरुण को बागी तेवर दिखाने का खामियाजा भुगतना पड़ा.
ज़मीन से ज़मीन की बात   www.bhumantra.com

रवीश कुमार के भाई ब्रजेश पांडेय पर सेक्स रैकेट चलाने का आरोप

बिहार कांग्रेस के उपाध्यक्ष और प्रख्यात पत्रकार रवीश कुमार के बड़े भाई ब्रजेश पांडेय पर एक दलित महिला के यौन शोषण और सेक्स रैकेट चलाने का आरोप लगा है.आरोप लगाने वाली लड़की कांग्रेस नेता की ही बेटी है.ढाई महीने पहले लड़की ने एफआईआर दर्ज कराई थी, लेकिन पुलिस ने तब से अबतक कुछ नहीं किया था. अब जब मामला मीडिया में उछला तब कुछ सुगबुगाहट हुई.

बहरहाल ब्रजेश पांडेय ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. पीड़ित लड़की ने पूर्व में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी खत लिखा था लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. इस वजह से अंत में उसे मीडिया से बातचीत करनी पड़ी.पूरे मामले की पड़ताल करती ज़ी न्यूज़ की एक रिपोर्ट -
ज़मीन से ज़मीन की बात www.bhumantra.com

लालू के बेटों को चपरासी लायक भी नहीं समझते मोदी!

बिहार में अजीब सियासत चल रही है.लालू यादव और उनका कुनबा दिन - रात केंद्र और प्र.मोदी पर निशाना साधने में लगे रहते हैं.इस कवायद में वे राज्य के बुनियादी मामलों से भी मुंह फेर लेते हैं.यही वजह है कि भाजपा बिहार के कद्दावर नेता सुशील मोदी अक्सर उनको लपेटे में लेते रहते हैं.अब फिर उन्होंने लालू यादव और उनके बेटों पर तंज कसा है.

ट्विटर पर उन्होंने लिखा - "जो लोग चपरासी-किरानी बनने के लायक भी नहीं थे, उन्हें नेता का बेटा होने के दबाव में नीतीश कुमार ने जब मंत्री बना दिया तो वे देश के प्रधानमंत्री पर अभद्र टिप्पणी करने लग गए.उन्हें पहले चारा घोटाले के सजायाफ्ता का लाइ-डिटेक्टर टेस्ट कराना चाहिए."
ज़मीन से ज़मीन की बात   www.bhumantra.com

अलका राय के समर्थन में मनोज सिन्हा का प्रचार अभियान

मोहम्मदाबाद सीट पर सबकी नज़र है. इसलिए प्रचार कार्य जोर-शोर से चल रहा है. आज केंद्रीय रेल और संचार राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने मोहम्मदाबाद से भाजपा प्रत्याशी अलका राय के समर्थन में सघन प्रचार कार्य किया. उन्होंने तीन जगहों पर आज सभा कर अपना पूरा जोर लगा दिया.इन सभाओं में बड़ी संख्या में भीड़ जुटी. देखिए तस्वीरें -
ज़मीन से ज़मीन की बात www.bhumantra.com

धर्म के कर्म से भाजपा बनाएगी उत्तरप्रदेश में सरकार,प्रख्यात ज्योतिषी की भविष्यवाणी

उत्तरप्रदेश में किसकी सरकार बनेगी,इसपर रहस्य बना हुआ है.बड़े-से-बड़ा राजनीतिक विश्लेषक भी उ.प्र.चुनाव परिणामों पर दावे से कुछ कहने में परहेज कर रहा है.दरअसल स्थिति भी कुछ ऐसी ही है कि दावे से कुछ कहना मुश्किल ही है.राजनीतिक परिस्थितियाँ ही कुछ ऐसी है.
लेकिन प्रख्यात ज्योतिषी मोहिंदर मेहता की भविष्यवाणी ने सियासी हलकों में खलबली मचा दी है.उनकी भविष्वाणी के मुताबिक़ उ.प्र.में भाजपा की सरकार बनेंगी.ग्रह नक्षत्र इस ओर इशारा करते हैं.खास बात ये है कि ज्योतिषाचार्य मोहिंदर मेहता की पूर्व में दो भविष्यवाणियां सटीक बैठ चुकी है.इसके पहले उन्होंने दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार और बिहार में जदयू/राजद गठबंधन की सरकार बनने की भविष्यवाणी की थी. 
उत्तरप्रदेश में भाजपा की सरकार बनने की भविष्यवाणी करते हुए ज्योतिषाचार्य मोहिंदर मेहता लिखते हैं – “11मार्च की ग्रह दशा और कुंडली के आधार पर भाजपा उत्तरप्रदेश में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरेगी.इसकी प्रबल संभावना है कि भाजपा अपने बलबूते सरकार भी बना ले, क्योंकि 11मार्च को भाजपा और प्र.मोदी जी की चंद्र कुंडली में चाँद अपने से दशम भाव पर विचरण कर रहा है.इसलिए…

राम मंदिर अयोध्या में ही बनेगा - गिरिराज सिंह

उत्तरप्रदेश चुनाव में केंद्रीय राज्यमंत्री भले स्टार प्रचारकों की सूची में न हो, लेकिन मुद्दे उठाने में वे कोई कोताही नहीं बरत रहे. इसी सिलसिले में राममंदिर को लेकर उनका दिया एक बयान फिर सुर्ख़ियों में छा गया है. एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने राम मंदिर का मुद्दा उठाते हुए कहा कि राम मंदिर अयोध्या में ही बनेगा.राहुल गांधी और अखिलेश यादव पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि राहुल गांधी या अखिलेश यादव मुझे बताएं कि क्या राम मंदिर बांग्लादेश या पाकिस्तान में बनेगा? ज़मीन से ज़मीन की बात   www.bhumantra.com

24 फरवरी को दिल्ली में स्वामी सहजानंद सरस्वती जयंती समारोह

देश में पहले भू-आंदोलन का श्रेय स्वामी सहजानंद सरस्वती को जाता है.इसलिए उन्हें भारत में किसान आन्दोलन का जनक कहा जाता है.उन्हीं की 128वीं जयंती पर दिल्ली के मावलंकर हॉल में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया है.कार्यक्रम का आयोजन जहानाबाद के सांसद डॉ.अरुण कुमार ने किया है.आमंत्रण पत्र और कार्यक्रम की सूचना नीचे संलग्न है - ज़मीन से ज़मीन की बात
 www.bhumantra.com

अलका राय के नामांकन में पहुंचे मनोज सिन्हा,सपा पर साधा निशाना

मोहम्मदाबाद से भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी अलका राय के नामांकन में केंद्रीय रेल और संचार मंत्री मनोज सिन्हा भी अपने लाव-लश्कर के साथ पहुंचे.इस मौके पर उन्होंने सपा सरकार पर जमकर निशाना साधा.उन्होंने सपा के चुनावी गाने - 'काम बोलता है' के बारे में कहा कि इसे बदलकर 'भ्रष्टाचार और अपराध बोलता है' कर देना चाहिए. ज़मीन से ज़मीन की बात   www.bhumantra.com

मनोज सिन्हा को मिली जेड श्रेणी की सुरक्षा

उत्तरप्रदेश चुनाव में भाजपा के वरिष्ठ नेता मनोज सिन्हा धुआंधार प्रचार में कुछ इस कदर व्यस्त हैं कि उन्हें अपनी भी सुध-बुध नहीं.ऐसे में सुरक्षा एक अहम मसला बन जाता है.इसी को मद्देनज़र रखते हुए केंद्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा को सरकार ने जेड श्रेणी की सुरक्षा देने का फैसला किया है.अब उनकी सुरक्षा सशस्त्र केन्द्रीय अर्धसैनिक बलों के कमांडों करेंगे.गौरतलब है कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत को भी ये वीआईपी सुरक्षा प्रदान की गयी है.दरअसल केन्द्रीय सुरक्षा एजेंसियों द्वारा तैयार की गई सुरक्षा एवं खतरा विश्लेषण रिपोर्ट में मनोज सिन्हा को ऐसी सुरक्षा मुहैया कराने को कहा गया था.
ज़मीन से ज़मीन की बात www.bhumantra.com

बैंगलोर में Brahmarshi Entrepreneurs Summit

सूचना - बैंगलोर में एक अनोखी पहल होने जा रही है. वहां के ब्रह्मऋषियों ने मिलकर उधमियों के लिए एक समिट का आयोजन किया है. कार्यक्रम 29 और 30 अप्रैल को बैंगलोर में होगा. इसका आयोजन ब्रह्मऋषि समाज बैंगलोर ने किया है. कार्यक्रम की जानकारी देते हुए ब्रह्मऋषि समाज बैंगलोर के पेज पर लिखा गया - 
ब्रह्मर्षि समाज बंगलोर के द्वारा 29 और 30 अप्रैल को Brahmarshi Entrepreneurs Summit का आयोजन किया जा रहा है । जिसमे आपलोगो की भागीदारी के बिना सम्भव नही होगा। आपसे अनुरोध है कि समाज के व्यवसायियों को एक छत के नीचे बैठाने में मदद करे और कुछ लोगो का नाम , फ़ोन नम्बर , कम्पनी का नाम दे ताकि सबको आमंत्रित किया जा सके।
ज़मीन से ज़मीन की बात   www.bhumantra.com

अलका राय नामांकन भरने पहुंची तो उमड़ी भीड़, देखें तस्वीर

मोहम्मदाबाद की जनता अलका राय को किस कदर पसंद करती है,इसका नज़ारा तब दिखाई दिया जब वो नामांकन भरने पहुंची.उनका हौसला बढ़ाने के लिए बड़ी संख्या में वहां लोग इकठ्ठे हुए.बाद में अलका राय ने प्रेस को भी संबोधित किया. देखिए तस्वीरें -

ज़मीन से ज़मीन की बात   www.bhumantra.com

मोहम्मदाबाद सीट के लिए अलका राय आज भरेंगी अपना नामांकन

मुहम्मदाबाद विधानसभा क्षेत्र से बतौर भाजपा प्रत्याशी अलका राय आज अपना नामांकन भरेंगी.इसके लिए 12बजे का समय सुनिश्चित हुआ है.उनका मुख्य मुकाबला बसपा के सिगबतुल्लाह अंसारी से है. उम्मीद की जा रही है कि इस मौके पर भारी संख्या में समर्थकों का जमावड़ा होगा. अल्का राय फैन क्लब के पन्ने पर लिखा गया - 
378, मुहम्मदाबाद विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी श्रीमती अलका राय जी का नामांकन आज 15 फरवरी 2017, दिन - बुधवार, समय - 12 बजे होना है ।आप सभी शुभचिन्तकों एवं कार्यकर्ताओं से विनम्र आग्रह है कि इस अवसर पर अधिक से अधिक संख्या में आयें। परिवर्तन लायेंगे - कमल खिलायेंगे । अलका राय जिन्दाबाद ✌
ज़मीन से ज़मीन की बात   www.bhumantra.com

बारा नरसंहार की 25 वीं बरसी,शहीद किसानों को दी गयी श्रद्धांजलि

गया.बारा नरसंहार की 25 वीं बरसी पर मारे गए लोगों को रविवार को श्रद्धांजली अर्पित कर याद किया गया.इस मौके पर नहर पर जाकर मृतकों की याद में बने स्मारक पर पुष्पांजलि व माल्यार्पण करते हुए सामूहिक श्रद्धांजलि दी गयी.उसके बाद उनकी आत्मा की शांति के लिए वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ हवन भी किया गया.

गौरतलब है कि 25वर्ष पहले गया ज़िले के बारा गांव में माओवादियों ने 12 फरवरी 1992 को भूमिहार जाति के 35 लोगों की हत्या कर दी थी. माओइस्ट कम्युनिस्ट सेंटर (एमसीसी) के सशस्त्र दस्ते ने एक नहर किनारे ले जाकर उनके हाथ-पैर बांधकर उनकी गला रेतकर हत्या कर दी थी.हाल ही में इसी हत्याकांड के चार सजायाफ्ता मुजरिमों की फांसी की सजा को राष्ट्रपति ने माफ कर उम्रकैद में तब्दील कर दिया था जिससे वहां के ग्रामीण और किसान मायूस हुए.

25 बरसी में श्रद्धांजलि अर्पित करने स्मारक स्थल पर राकेश सिंह, मदन सिंह, धनंजय सिंह आदि ने घटना की स्याह रात (12 फरवरी 1992) को याद करते हुए कहा कि वह काली और भयावह रात किसी के जीवन में न आए। भगवान से यही प्रार्थना करते हैं। उस रात असुरी शक्तियां घटना की रात गाव में अट्टाहास कर रही थी। च…

हाथी और साइकिल दोनों सगे भाई हैं - मनोज सिन्हा

गाजीपुर. केंद्रीय रेल और संचार राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी को एक साथ लपेटते हुए कहा कि हाथी और साइकिल दोनों सगे भाई हैं और इस बार जनता हाथी,साइकिल और पंजा सबको मिलाकर हिंद महासागर भेजने वाली है.फिर कमल खिलेगा. 
मुख्तार अंसारी के बसपा में जाने के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि ये लोग कभी साइकिल पर तो कभी हाथी पर सवार हो जाते हैं. पत्रकारों के साथ बातचीत में मनोज सिन्हा ने कहा कि उ.प्र.में भाजपा इस बार क्लीन स्वीप करेगी. ज़मीन से ज़मीन की बात   www.bhumantra.com

कांग्रेस और नेहरू-गांधी परिवार ने कर दिया भारतीय राजनीति का बेड़ा गर्क

-हरेश कुमार- 

Indian National Congress गांधी-नेहरू परिवार के नेतृत्व में सिर्फ महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी के अलावा गिने-चुने कुछ अन्य नेताओं की ही जन्मतिथि और पुण्यतिथि मनाती रही है। लगातार पांच चाल तक देश के प्रधानमंत्री रहे पी.वी.नरसिम्हा राव की जन्मतिथि या पुण्यतिथि मनाना कांग्रेसी परंपरा में शामिल नहीं है। 
हकीकत यह है कि कहीं आलाकमान नाराज हो जाएं तो राजनीति की दुकान भी बंद हो जाएगी मनाने वाले नेताओं की। अभी तो यही स्थिति है। ऐसा कहने के पीछे कारण यह है कि जिस मनमोहन सिंह को पीवी नरसिम्हा राव ने वित्त मंत्री बनाकर आर्थिक उदारीकरण को लागू करने का जिम्मा दिया और खुली छूट दी वो भी उनके निधन के बाद श्रद्धांजलि व्यक्ति करने तक नहीं गए, फिर दूसरों से उम्मीद क्यों? क्योंकि वो सोनिया गांधी के रिमोट के तौर पर दस साल तक देश के पीएम रहे और इस दौरान उन्होंने पीएम पद की गरिमा को तहस-नहस कर दिया। 
देश की राजनीति को निम्न स्तर तक पहुंचाने में कांग्रेस और नेहरू-गांधी परिवार का सबसे बड़ा योगदान है। उन राजनीतिज्ञों को लूट की खुली छूट दी गई जो गांधी-नेहरू परिवार के आगे…

यूपी में हत्यारों के खिलाफ अलका राय की जंग

मोहम्मदाबाद(उ.प्र.)- पूरा क्षेत्र जिसकें नाम से काँपता हो, उसके सामने कोई स्त्री खड़ी होकर चुनौती पेश करे तो ये हिम्मत की बात है.उत्तरप्रदेश के संवेदनशील विधानसभा क्षेत्र 'मोहम्मदाबाद' से भाजपा की प्रत्याशी अलका राय कुख्यात माफिया डॉन मुख्तार अंसारी के परिवार के सामने ऐसी ही चुनौती पेश कर रही हैं और इस चुनौती से निपटने के लिए अंसारी परिवार को एड़ी - चोटी का पसीना एक करना पड़ रहा है. 
मोहम्मदाबाद में अंसारी परिवार का घर 'फाटक' के नाम से मशहूर है जहाँ से वे सालों से मोहम्मदाबाद पर राज कर रहे हैं.पूरे क्षेत्र में उनके सामने चुनौती पेश करने वाला कोई नहीं. ऐसे में स्व.कृष्णानंद राय सामने आए और अंसारी भाइयों के सामने कड़ी चुनौती पेश की.फिर तो उन्हें हरा कर ही दम लिया. लेकिन राजनीति की जंग AK47 की गोलियों पर जाकर खत्म हुआ जिनपर कृष्णानंद राय का नाम लिखा था. कायरों ने उन्हें शहीद कर दिया. 
लेकिन जंग उसके बाद भी जारी रही और इस जंग को जारी रखा स्व.कृष्णानंद राय की पत्नी अलका राय ने. उन्होंने उसके बाद हुए उपचुनाव में न केवल अंसारियों को चुनाव में शिकस्त दी, बल्की मुख्तार अंस…

भाजपा से कांग्रेस में आए 'अजय राय' की कहानी?

कौन है अजय राय?  अजय राय कांग्रेस के नेता हैं. वे वर्तमान में उ.प्र. के पिंडरा विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं. इस बार भी वे कांग्रेस के टिकट पर यहाँ से चुनाव लड़ रहे हैं.
अजय राय तब राष्ट्रीय मीडिया की सुर्ख़ियों में छा गए जब कांग्रेस ने उन्हें पीएम मोदी के खिलाफ बनारस से उन्हें चुनाव मैदान में उतारा. जानिए वीडियो के जरिए उनके राजनीतिक सफर की कहानी -

घोषणापत्र में अजय राय -
ज़मीन से ज़मीन की बात   www.bhumantra.com

मनोज सिन्हा के हाथ पूर्वांचल की कमान

मनोज सिन्हा को भारतीय जनता पार्टी ने अहम ज़िम्मेदारी दी है.नयी जिम्मेदारी के तहत उन्हें पूर्वांचल की कमान सौंपी गयी है.गौरतलब है कि टिकट बंटवारे के बाद वहां असंतोष फ़ैल गया जिससे अब मनोज सिन्हा को ही निपटना होगा.इस लिहाज से उनके लिए ये किसी अग्निपरीक्षा से कम नहीं. सूत्रों की माने तो हाईकमान ने अब उन्हें बनारस को केन्द्र बनाकर पूर्वांचल में कैंप करने को कहा है. उनके सहयोग के लिए केन्द्रीय मंत्री डा. महेन्द्र नाथ पाण्डेय, कलराज मिश्र और सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त समेत एक दर्जन नेताओं की टोली भी होगी. पूर्वांचल पर भाजपा की खास नज़र है और यहाँ से उम्मीद भी सबसे ज्यादा है.
ज़मीन से ज़मीन की बात
 www.bhumantra.com

अजय राय को कांग्रेस ने बनाया प्रत्याशी

प्र.मोदी के खिलाफ वाराणसी से लोकसभा चुनाव लड़ चुके 'अजय राय' को कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में भी मैदान में उतारा है.वे पिंडरा विधानसभा क्षेत्र से अपनी चुनौती पेश करेंगे.गौरतलब है कि वे वर्तमान में इसी क्षेत्र से विधायक हैं और अबतक लगातार पांच बार इसी विधानसभा क्षेत्र से चुनाव जीत चुके हैं.वर्ष 2012 में उन्होंने बसपा के जय प्रकाश को 9218 मतों के अंतर से हराया था.उन्हें कुल 52863 मत मिले थे.उन्हें टिकट मिलने पर कांग्रेस के क्षेत्रीय समर्थकों में काफी उत्साह है. धीरज शुक्ला लिखते हैं - 
कांग्रेस ने अपने पदारूढ विधायकों को व्यक्तिगत स्तर पर हरी झंडी दे रखी थी,किंतु आज जब अंतिम दोनों दौर के प्रत्याशी घोषित हुए तो काशी की राजनीति के इस सर्वाधिक जुझारू नेता एवं विधानसभाई चुनावों के पांच बार के अजेय योद्धा की उम्मीदवारी की भी घोषणा कांग्रेस नेतृत्व ने कांग्रेस-सपा मोर्चे के साझा प्रत्याशी की।स्वागत। श्री अजय राय जनसमस्याओं के विरूद्ध लोगों के साथ खड़े होने वाली संघर्ष की राजनीति की पूर्वांचल की अनूठी मिसाल और सत्ता के सशक्त दुर्गों से निर्भय टकराते रहने के अदभ्य राजनीतिक साहस क…

कल्पनाथ राय के देहांत के बाद उ.प्र.में हाशिए पर भूमिहार

सक्षम नेता के अभाव में भूमिहारों के राजनैतिक अस्तित्व पर लगातार संकट के बादल मंडरा रहे हैं.बिहार से लेकर उत्तरप्रदेश तक में यही हालात हैं.अबतक भाजपा को भूमिहार फ्रेंडली माना जाता था, लेकिन अब वो भी धीरे-धीरे किनाराकशी करने लगा है. वजह साफ़ है कि वर्तमान समय में भूमिहारों का राजनीतिक वजूद घटा है.इसी पर अमर उजाला ने एक संक्षिप्त रिपोर्ट प्रकाशित की है जिसमें उ.प्र.के संदर्भ में बताया है कि कैसे कल्पनाथ राय के निधन के बाद भूमिहार हाशिए पर आ गए. पेश है पूरी रिपोर्ट - 
मऊ. एक जमाना था जब जिले की पहचान ही भूमिहार जाति के नेताओं से होती थी। लेकिन विकास के नाम पर जिले का सृजन करने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. कल्पनाथ राय की वर्ष 1999 में देहांत के बाद से इस जाति के लोग उनकी विरासत को नहीं संजो पाए। हालत यह है कि पहले तो चुनाव मैदान में उतरे भूमिहार बिरादरी को जनता ने नकारा तो बाद में राजनैतिक पार्टियों ने। इसी का परिणाम है कि वर्तमान विधान सभा चुनाव के लिए मनोज राय का टिकट कटने के बाद राजनीति के क्षेत्र में भूमिहार जाति हाशिए पर आ गई है। 
23 लाख की आबादी वाले इस जिले में चारों विधान सभा …

जब ट्विटर पर उड़ा तेजस्वी यादव का मजाक

सोशल मीडिया आजकल अच्छों-अच्छों की उतार देता है. कुछ ऐसा ही लालू पुत्र तेजस्वी यादव के साथ भी हुआ जब उन्होंने अंग्रेजी में संजय लीला भंसाली और फिल्म पद्ममिनी को लेकर ट्वीट किया. ट्वीट में उन्होंने लिखा - 
Tejashwi Yadav ✔ @yadavtejashwi I invite Bollywood to come & shoot in historical, glorified, culturally rich & developing Bihar. Will extend all sorts of help all the way 10:33 AM - 30 Jan 2017 
बस फिर क्या था, जवाब में ट्वीट्स की झड़ी लग गयी. एक ने तेजस्वी की अंग्रेजी का मजाक उड़ाते हुए लिखा - 
 "Arvind Sharma @ArvindS82049017 @yadavtejashwi पहले ये बताओ कि ये ट्वीट किसने लिखा जहा तक मुझे याद है हिंदी तो तुमसे ठीक से पढ़ी नहीं जाती फिर ये तो english में है" 
Abhishek Tripathi @Youthabhi @yadavtejashwi आप तो अँग्रेजी जानते नही हो फिर कैसे अँग्रेजी में पोस्ट कर दिया मतलब आपने किसी से लिखवाया है पूछ के लिखना तो बड़ी बात है। 
Hemendra Singh @1302hemendra @yadavtejashwi @laluprasadrjd डिप्टी cm साहब अगर जिंदगी मे कभी इतिहास नहीं पढ़ा तो इन मामलो पर नहीं बोलना चाहिऐ …

तेजस्वी यादव भंसाली की चिंता करने से पहले करोड़ो बिहारियों को तो बुला लो

'संजय लीला भंसाली के साथ बीजेपी शासित राजस्थान में जो हुआ, बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. हिंदुस्तानियों को आपस में लड़ाना इनके डीएनए में है.-तेजस्वी यादव, उप मुख्यमंत्री, बिहार' फिल्म 'पद्ममिनी' मामले में तेजस्वी के ट्वीट पर वरिष्ठ पत्रकार 'हरेश कुमार' की टिप्पणी -
हरेश कुमार'-

तेजस्वी यादव भाई हमारे जैसे करोड़ों बिहारियों का करियर तुम्हारे पिताजी लालू यादव ने बर्बाद कर दिया। इनके सत्ता में आने के बाद बिहार की शिक्षा-व्यवस्था और कानून का जो हाल हुआ उसके बारे में किसी से पूछने की जरूरत नहीं है। आपके पिताजी के जंगलराज के कारण बिहार से सभी उद्योगपति भाग गए। इतना ही नहीं, आपके पिताजी के समय जो एकमात्र उद्योग-धंधा फला और फूला वह रहा- अपहरण का, जो उद्योग के तौर पर स्थापित हो गया था। इसमें आपकी पार्टी, आपके पिताजी व कई माननीय विधायकों और सांसदों की भूमिका रही। आप हमारे बीते दिन ही लौटा दो अगर हो सके तो। 
भंसाली की चिंता करने से पहले उन करोड़ों बिहारियों को अपनी मातृभूमि में बुलाओ जो रोजगार व कानून-व्यवस्था के कारण दूसरे प्रांतों में मजदूरी करने को विवश हैं। शायद…

अमिताभ बच्चन ने सरस्वती पूजा की बधाई दी तो पड़ने लगी गालियाँ

भारत में धार्मिक कट्टरपंथ किस तेजी से बढ़ रहा है उसका उदाहरण कल सोशल मीडिया पर देखने को मिला. दरअसल कल सरस्वती पूजा थी और सदी के महानायक अमिताभ बच्चन ने फेसबुक पर सरस्वती पूजा की शुभकामना देते हुए अपनी भावनाएं व्यक्त की थी.फिर क्या था, कमेंट का सिलसिला जारी हो गया. वैसे तो ज्यादा कमेंट सकरात्मक ही थे.लेकिन कुछ कमेंट बेहद नकरात्मक थे.खुद ही पढ़ लीजिए -


ज़मीन से ज़मीन की बात   www.bhumantra.com

पश्चिम बंगाल में सरस्वती पूजा पर भी संकट !

पश्चिम बंगाल में कट्टरपंथियों के हौसले इस कदर बुलंद हैं कि वे अब पूजा-पाठ तक में विघ्न डालने पर आमादा हैं.खबर के अनुसार हावड़ा के एक स्कूल में मुस्लिम कट्टरपंथियों की धमकी की वजह से एक स्कूल में सरस्वती पूजा नहीं हो पायी जिसके विरोध में एक प्राध्यापक ने इस्तीफा दे दिया. गौरतलब है कि इसके पहले दुर्गा पूजा में भी विघ्न डालने का प्रयास किया गया था. वरिष्ठ पत्रकार 'हरेश कुमार' फेसबुक पर इस जानकारी को शेयर करते हुए लिखते हैं - 
 "ममता बनर्जी के राज्य में मुस्लिम कट्टरपंथियों के दबाव के कारण मुस्लिम बहुल इलाकों में पहले दुर्गापूजा नहीं करने दिया गया तो अब सरस्वती पूजा करने से भी मना किया गया। ये हकीकत है जिसपर कई काठ के उल्लू कभी नहीं बोलेंगे, जो हर छोटे-बड़े मामले पर मुंह फाड़कर चिल्लाते रहते हैं। घनघोर तुष्टिकरण की यह नीति ममता बनर्जी और उनकी पार्टी को ही नहीं, राज्य को भी भारी पड़ने वाला है। "
ज़मीन से ज़मीन की बात   www.bhumantra.com

भारत को आखिर बॉलीवुड ने क्या दिया : आलोक कुमार,अध्यक्ष,रूद्र सेना

आलोक कुमार,संस्थापक,रूद्र सेना-

भारत को आखिर बॉलीवुड ने दिया क्या है ? बॉलीवुड ने भारत को इतना सब कुछ दिया है, तभी तो आज देश यहाँ है ... 
1. बलात्कार गैंग रेप करने के तरीके।  2. विवाह किये बिना लड़का लड़की का शारीरिक सम्बन्ध बनाना।  3. विवाह के दौरान लड़की को मंडप से भगाना  4. चोरी डकैती करने के तरीके।  5. भारतीय संस्कारो का उपहास उठाना।  6. लड़कियो को छोटे कपडे पहने की सीख देना.... जिसे फैशन का नाम देना।  7. दारू सिगरेट चरस गांजा कैसे पिया और लाया जाये।  8. गुंडागर्दी कर के हफ्ता वसूली करना।  9. भगवान का मजाक बनाना और अपमानित करना।  10. पूजा पाठ यज्ञ करना पाखण्ड है व नमाज पढ़ना ईश्वर की सच्ची पूजा है।  11. भारतीयों को अंग्रेज बनाना।  12. भारतीय संस्कृति को मूर्खता पूर्ण बताना और पश्चिमी संस्कृति को श्रेष्ठ बताना।  13. माँ बाप को वृध्दाश्रम छोड़ के आना।  14. गाय पालन को मज़ाक बनाना और कुत्तों को उनसे श्रेष्ठ बताना और पालना सिखाना।  15. रोटी हरी सब्ज़ी खाना गलत बल्कि रेस्टोरेंट में पिज़्ज़ा बर्गर कोल्ड ड्रिंक और नॉन वेज खाना श्रेष्ठ है।  16. चोटी रखना या यज्ञोपवित्र पहनना मूर्खता और …

प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव ने चिठ्ठी लिखकर पंजाबियों को केजरीवाल से किया आगाह

प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव की चिठ्ठी पंजाबियों के नाम : प्यारे पंजाबवासियो ,  ये चिठ्ठी पंजाब के दो हमदर्दों की तरफ से है। हमारी पैदाइश और रिहाइश पंजाब की नहीं है। लेकिन हम दोनों का पंजाब से रिश्ता है। योगेंद्र पंजाबियों के बीच गंगानगर में बड़ा हुआ, खालसा स्कूल और खालसा कॉलेज में पढ़ा और फिर पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ में पढ़ाया। प्रशांत ने पंजाबी सिख परिवार में शादी की है। हम दोनों सन 1984 के कत्लेआम के खिलाफ खड़े हुए। प्रशांत उस टीम में था जिसने दिल्ली के कत्लेआम का सच देश के सामने रखा। पंजाब के हमदर्द होने के नाते हमारा फ़र्ज़ बनता है कि आपके सामने पूरा सच रखें -- बिना मोह, बिना खुंदक के। 
शुभचिंतक का फ़र्ज़ है कि वो सिर्फ दिल खुश करने वाली बातें न कहे। एक सच्चा दोस्त जरूरत पड़ने पर ऐसी बात भी कहता है जो उस वक्त सुनने में अच्छी नहीं लगती। आज पंजाब एक चौराहे पर खड़ा है। चुनाव है लेकिन चुनने लायक कोई पार्टी नहीं है। लुटेरों से बचने के लिए जनता से पुराने चोर और नए ठग के बीच चुनने को कहा जा रहा है। इस चौराहे पर एक रास्ता है जो पंजाब को वापिस अकाली-बीजेपी सरकार की तरफ ले जाता है। इस रास्ते…