Skip to main content

समाज से मिलिए कार्यक्रम में कल भूमिहार प्रतिभा खोज का आयोजन


                 
                   आमंत्रण

आप सभी परशुराम वंशजो को सहर्ष सूचित किया जाता है कि दिनांक 08.01.2017 को  "भूमिहार प्रतिभा खोज एवं परिपोषण ग्रुप " (जो भूमिहार समाज के सभी ग्रुप के सहयोग से चल रहा है) राजा राम मोहन राय मेमोरियल हाँल,  ITO मेट्रो गेट नं.  2 के पास , नई दिल्ली
सुबह 11.30 से संध्या 7.30 तक
" समाज से जुड़िये " कार्यक्रम का आयोजन होना सुनिश्चित हुआ है.....
 जिसमे आप सभी आमंत्रित है

जिसकी रूप रेखा निम्न प्रकार है----

💐समाज से जुड़िये कार्यक्रम💐
           08.01.2017
1. कार्यक्रम सुबह 11.30 मे सरस्वती वंदना के साथ आरंभ होगा
2. 12.30 से 2.00 बजे तक चाय के साथ लोग अपना अपना परिचय देंगे
3. 2.00 बजे से 3.00 बजे तक सभी लोग साथ मे मध्यान्ह भोजन ग्रहण करेंगे

4. 3.00 - 4.00 बजे तक प्रवक्तागण  समाज के विकास,  शिक्षा, बेरोजगारी आदि मुद्दे पर अपना वक्तव्य देंगे (इसी बीच बच्चे को प्रभु परशुराम जी का, चित्र बनाने को दिया जायेगा,  जो अपने महापुरूषों को याद करने और सम्मानित करने की श्रृंखला का शुभारंभ होगी)

5. 4.00 से 5.00 तक युवा पंचायत के तहत युवा 'बदलते परिवेश मे भूमिहार समाज' नामक टाँपिक पर अपने विचार रखेंगे
6. 5.00 से 6.00 का समय सांस्कृतिक कार्यक्रम जैसे कविता पाठ (अगर अपने समाज पर कोई कविता हो तो अति उत्तम), गाना , नृत्य आदि
7. 6.00 से 7.00 तक बच्चो, बुजुर्गों एवं अपने समाज के प्रति समर्पित परशुराम वंशजो को सम्मानित किया जायेगा
8. 7.00 बजे कार्यक्रम की समाप्ति ।

प्रतियोगिता मे भाग लेने वाले बच्चे दिनांक:- 03.01.2017 तक निम्न लोगो से संपर्क कर जानकारी ले सकते है तथा अपने बच्चो का नाम दे सकते है:

1.   श्री मुनमुन सिंह 9953773791
2.   श्री आशुतोष कुमार :8506943663
3.   श्री शैलेन्द्र कुमार 9868851714
4.   डाँ.  कुन्दन कुमार:9311493935
5.   श्री विवेक आचार्य 9873332744
6.   कुमार गन्धर्व:9015141124
7.   डाँ रणधीर:9313804225
8.   श्री बिनोद जी (CA) 9810130294
10. श्री राजेश कुमार : 9990017739
11. श्री ओम प्रकाश पांडे:9810127567
12. इंजी० शरत राय: 9453594838
13. श्री आलोक 'हिन्दु' 9136777077
14. श्री पिंटु मिश्रा : 9868060563
15. श्री ब्रजेश सिंह 8882220662
16. श्री मनोज सिंह 9711619261
17. श्री सत्येन्द्र सत्यार्थी :9818266004
18. श्री इन्द्रासन राय 9555646115
19. श्री गोपाल सिंह 8882496207
20  श्रीमती साधना सिंह 9958828972
21. श्री चन्दन जी 8373976234

नोट: अपने समाज के जो भी व्यवसायी, डाँक्टर, वकील, ट्यूटर, कोचिंग सेंटर वाले आदि है वो प्रचार- प्रसार के लिये अपना स्टाँल या बैनल निःशुल्क लगाना चाहते है वे कृपया श्री मुनमुन जी या डाँ. कुन्दन जी से संपर्क कर सकते है ।


ज़मीन से ज़मीन की बात www.bhumantra.com

Comments

Popular posts from this blog

अंतर्जातीय विवाह की त्रासदी सुहैब इलियासी-अंजू मर्डर केस, सच्चाई जानेंगे तो चौंक जायेंगे

पत्नी अंजू की हत्या के मामले में सुहैब इलियासी दोषी,मिली उम्रकैद की सजा  खुलेपन के नाम पर अंतर्जातीय विवाह आम बात है. भूमिहार समाज भी इससे अछूता नहीं. लड़के और लड़कियां आधुनिकीकरण के नाम पर धर्म और जाति की दीवार को गिराकर अंतर्जातीय विवाह कर रहे हैं. लेकिन नासमझी और हड़बड़ी में की गयी ऐसी शादियों का हश्र कई बार बहुत भयानक होता है. उसी की बानगी पेश करता है अंजू मर्डर केस जिसमें 17साल के बाद कोर्ट का फैसला आया है और अंजू के पति सुहैब इलियासी को उम्र कैद की सजा का हुक्म कोर्ट ने दिया है. गौरतलब है कि अंजू इलियासी कभी अंजू सिंह हुआ करती थी और एक प्रतिष्ठित भूमिहार ब्राहमण परिवार से ताल्लुक रखती थी.
सुहैब इलियासी और अंजू की कहानी - अंजू की मां रुकमा सिंह के मुताबिक़ सुहैब और अंजू की पहली मुलाकात 1989 में जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में हुई थी. धीरे-धीरे दोनों अच्छे दोस्त बन गए और बात शादी तक जा पहुंची. अंजू के पिता डॉ. केपी सिंह को जब इस रिश्ते का पता चला तो उन्होंने इसका विरोध किया. लेकिन इसके बावजूद अंजू और सुहैब ने 1993 में लंदन जाकर स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत शादी कर ली. इसके बाद अं…

पिताजी के निधन पर गमगीन कन्हैया के चेहरे का नूर !

सहसा यकीन नहीं होता, लेकिन तस्वीर है कि यकीन करने पर मजबूर करती है. आपको जैसा कि पता ही है कि छात्र राजनीति से राष्ट्रीय राजनीतिक परिदृश्य में आए कन्हैया के पिता का निधन हो गया था. इस दौरान उनकी तस्वीर भी न्यूज़ मीडिया में आयी थी जिसमें कि वे फूट-फूट कर रो रहे थे. समर्थक और विरोधी सबने दुःख की घड़ी में दुआ की और एक अच्छे इंसान की भी यही निशानी है कि वो ऐसे वक्त पर ऐसी ही संवेदना दिखाए.

बेगूसराय की इस भूमिपुत्री ने 18 साल की उम्र में कर दिया कमाल, पढेंगे तो इस बिटिया पर आपको भी होगा नाज!

प्रेरणादायक खबर : बेटियों पर नाज कीजिए, उन्हें यह खबर पढाईए
बेगूसराय. प्रतिभा किसी चीज की मोहताज नहीं होती. बेगूसराय के बिहटा की भूमिपुत्री प्रियंका ने कुछ ऐसा ही कर दिखाया है. 18 साल की उम्र में प्रियंका इसरो की वैज्ञानिक बन गयी हैं. आप सोंच रहे होंगे कि वे किसी धनाढ्य और स्थापित परिवार से संबद्ध रखती हैं लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है. उनके पिता राजीव कुमार सिंह रेलवे में गार्ड की नौकरी करते हैं और मां प्रतिभा कुमारी शिक्षिका हैं. वे बिहटा के एक साधारण भूमिहार ब्राहमण परिवार से ताल्लुक रखती हैं. इस मायने में उनकी सफलता उल्लेखनीय है.  पढाई-लिखाई :  1-दसवी और 12वीं : वर्ष 2006 में 'डीएवी एचएफसी' से दसवीं और वर्ष 2008 में 12वीं  2-बीटेक : नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी अगरतला  3-एमटेक : एमटेक की पढ़ाई इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी गुवाहाटी से पूरा कर रही हैं  सफलताएं :  1- वर्ष 2009 में एआईईई की परीक्षा में 22419वां रैंक  2- वर्ष 2016 में गेट की परीक्षा में 1604वां रैंक  3- शोध पत्र 'वायरलेस इसीजी इन इंटरनेशनल' जर्नल ऑफ रिसर्च एंड साइंस टेक्नोलॉजी एंड इंजीनियरिंग म…