Skip to main content

Posts

Showing posts from December, 2014

प्रतिभा की बदौलत मीडिया में 'भूमिपुत्रों' का दबदबा,लेकिन फिर भी चलती रही खिलाफ में ख़बरें

"रणवीर"

पत्रकारिता - मीडिया को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहा जाता है और इस स्तंभ को मजबूती प्रदान कर रहे हैं भू-समाज के लोग. अपनी अदभूत प्रतिभा और परिश्रमी स्वभाव की वजह से मीडिया में भूमिहार समुदाय की अच्छी उपस्थिति है. बड़े पदों पर उनका दबदबा है. यह स्थिति प्रिंट,इलेक्ट्रौनिक और ऑनलाइन तीनों माध्यमों में है. 
एक तरफ उदय शंकर जैसे शख्स हैं जिनकी तरक्की मीडिया इंडस्ट्री में एक मिसाल मानी जाती है.उदय शंकर वर्तमान में स्टार इंडिया के प्रमुख है और यह सफर उन्होंने बड़ी तेजी से तय किया है. टाइम्स ऑफ इंडिया,पटना से बतौर पत्रकार अपना सफर शुरू करने वाले उदय शंकर स्टार इंडिया तक पहुँचते-पहुँचते मैनजमेंट और कॉरपोरेट जगत के माहिर खिलाड़ी के तौर पर उभर कर सामने आए. मीडिया इंडस्ट्री में उनकी जैसी तरक्की शायद ही किसी की हुई हो. 
दूसरी तरफ न्यूज़ चैनेलों में ठीक-ठाक अनुपात में ऐसे संपादक हैं जो जाति से भूमिहार समुदाय से ताल्लुक रखते हैं. सतीश के सिंह (न्यूज़24), अजीत अंजुम (मैनेजिंग एडिटर,इंडिया टीवी), एन.के.सिंह (महासचिव,ब्रॉडकास्ट एडिटर एसोसियेशन), शैलेश (पूर्व सीईओ,न्यूज़ नेशन), उपेन्द्र राय…

स्व.कृष्‍णानंद राय की पुण्यतिथि पर जुटे दिग्गज भूमिहार नेता,गिरिराज सिंह ने कहा आतंकवाद से लड़ते हुए शहीद हुए कृष्णानंद राय

मुहम्मदाबाद (गाजीपुर) : विधायक स्व.कृष्णानंद राय सहित सात साथियों की नौवीं पुण्य तिथि शहीद पार्क में शनिवार को शहादत दिवस के रूप में मनी। मुख्य अतिथि केंद्र सरकार के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग राज्यमंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि इस क्षेत्र के लोगों को आजादी दिलाने के लिए डा. शिवपूजन राय सहित आठ लोगों ने अपनी शहादत दी तो आतंकवाद का खात्मा करने के लिए विधायक कृष्णानंद राय ने अपने छह साथियों के साथ। कहा कि हम लोकतंत्र में विश्वास रखते हैं और लोकतांत्रिक ढंग से आतंकवाद का खात्मा पूरे देश से करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी विकास एवं सुशासन के पर्याय बने हुए हैं। अमेरिका, जापान, आस्ट्रेलिया, चीन, नेपाल, भूटान आदि देशों में भारत की जय जयकार हो रही है। पहले भाजपा शासित भारत की सरकार ने आतंकवाद का संज्ञान अमेरिका को दिलाया था लेकिन जब व‌र्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमला हुआ तब जाकर उसे दर्द का एहसास हुआ। कहा कि किसी भी शहीदों की शहादत बेकार नहीं जाएगी। युवाओं से स्व.कृष्णानंद के उद्देश्यों को अपनी आत्मा में रखकर आगे बढ़ने का आह्वान किया। युवा शपथ लेकर जाएं कि कृष्णानंद के उद्देश्य को 2017 के चुनाव में भा…